S.V.M. Inter College

माध्यमिक स्तर के शिक्षार्थियों को संस्कार युक्त शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से 1991 में सरस्वती माध्यमिक विद्या मन्दिर की स्थापना हुई। 1992 में इस विद्यालय को हाईस्कूल विज्ञान वर्ग की मान्यता मा0 शि0 प0, उ0 प्र0, इलाहाबाद द्वारा प्राप्त हुई तथा 1997 में इण्टरमीडिएट वाणिज्य वर्ग की मान्यता प्राप्त हो गयी है। विगत पाँच वर्षों से विद्यालय में कक्षा 6 से 12 तक छात्राओं के लिए अलग से कक्षाओं की व्यवस्था है। कम्प्यूटर को वैकल्पिक विषय के रूप में कक्षा 6 से 12 तक रखा गया है। जुलाई 2007 से कक्षा 6 से 12 तक अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा दी जा रही है। इस प्रकार हाईस्कूल का 16वाँ तथा इण्टर का 11वाँ बैच बोर्ड की परीक्षाओं में सम्मिलित है। जिनका परीक्षाफल निरन्तर उत्तम रहा है। कृषि वर्ग भी कक्षा 6 से 12 तक चलाया जा रहा है। एस.वी.एम. इण्टर कालेज के पुरातन छात्र प्रशान्त सिंह ने राष्ट्र की सर्वोच्च प्रशासनिक आई. ए. एस. परीक्षा उत्तीर्ण कर पूरे देश में विद्यालय का नाम ऊँचा किया है तथा बिहार पीसी.ए स. परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त कर बिहार प्रान्त में भी विद्यालय एवं उन्नाव जिले का गौरव बढ़ाया है। सरस्वती विद्या मन्दिर इण्टर कालेज, सन्त पूरनदास नगर उन्नाव के समस्त शिक्षकों एवं विद्यालय परिवार के सदस्यों के लिए यह गर्व की बात है कि यहाँ अध्ययन करके निकलने वाले छात्र एवं छात्राएँ विभिन्न क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा की पताका फहरा रहे हैं। विद्यार्थी जीवन मंे कठिन श्रम एवं अनुशासन का पाठ पढ़कर निकले इन्हीं विद्यालयों में से अब तक आई. आई. टीजैसे अति महत्वपूर्ण संस्थानों में 42 शिक्षार्थी प्रवेश पा चुके हैं। देश के विभिन्न इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट्स में अब तक 610 शिक्षार्थी अपनी प्रतिभा प्रदर्शित कर चुके हैं। मरीन इंजीनियरिंग (समुद्र विज्ञान) एवं मर्चेंन्ट नेवी में 492 तथा आई. आई. एच. एम. (इण्डियन इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेन्ट) में 9 और आई. आई. एम. जैसे देश की प्रतिभाओं की खान कहे जाने वाले संस्थानों में 03 शिक्षार्थी प्रशिक्षण पा रहे है। सेना के तीनों अंगों में गैर सैनिक वरिष्ठ पदों के लिए अब तक 71 छात्र चयनित हो चुके हैं जबकि अन्य पदों में 500 से अधिक छात्रों को प्रवेश मिल चुका है। प्रशासनिक पदों पर भी एस.वी.एम. इण्टर कालेज के छात्रों ने अपनी धमक साबित की है और विभिन्न पदों पर अब तक नौ छात्र चयनित हुए है। चिकित्सा के क्षेत्र में एम.बी.बी.एस. करने वाले 57 शिक्षार्थी के अलावा इस क्षेत्र की अन्य डिग्रियाँ हासिल करने में भी 142 शिक्षार्थी सफल हुए हैं । उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् की हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट की परीक्षा में प्रायः जिले में सर्वोत्तम परीक्षाफल अर्जित कर शिक्षक/शिक्षिकाओं का है यू. पी. बोर्ड द्वारा लगातार छः वर्षों से उत्तम परीक्षाफल के कारण ए श्रेणी का सम्मान दिया जा रहा है। हमें गर्व है कि उनके इस उद्देश्य को सफल बनाने में अभिभावक बन्धुओं का निरन्तर सहयोग प्राप्त होता रहा है।
 

ABOUT NBGEI

SOCIETIES

FACILITIES

COLLEGE DETAILS

 
2015-16 NBGEI. All rights reserved. Developed by The Intellisystem